वायरल

ये है अमेरिका का सबसे खतरनाक सीरियल किलर, एेसे ली 90 महिलाओं की जान

अमेरिका की टेक्सास जेल में पिछले कई हफ्तों से करीब-करीब हर दिन भारी सुरक्षा के बीच व्हीलचेयर पर बैठा एक शख्स इंटरव्यू रूम में  जांचकर्ताओं को अपने खौफनाक अपराध की कहानियां बता रहा है।

न्यूयॉर्कः अमेरिका की टेक्सास जेल में पिछले कई हफ्तों से करीब-करीब हर दिन भारी सुरक्षा के बीच व्हीलचेयर पर बैठा एक शख्स इंटरव्यू रूम में  जांचकर्ताओं को अपने खौफनाक अपराध की कहानियां बता रहा है।  सफेद बालों व झुर्रियों से भरे चेहरे वाला   ये शख्स बेशक डायबटीज और दिल के रोग की वजह से शारीरिक तौर पर कमजोर हो चुका है, लेकिन उसकी करतूतें सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएं।   इस खतरनाक सीरियल किलर  सैमुअल लिटल (78) ने पूछताछ दौरान बताया कि किस तरह वह बार, नाइट क्लबों और सड़कों से आसान शिकार लगने वाली महिलाओं को चुनता था और अपनी कार की पिछली सीट पर उनका गला घोंटकर बेरहमी से मार देता था। सैमुअल लिटल ने कबूल किया कि करीब 25 से 50 साल पहले अलग-अलग वक्त पर 90 से ज्यादा हत्याएं की थीं।

 1980 के दशक के दौरान लॉस एंजलिस में 3 महिलाओं की हत्या के जुर्म में लिटल पहले ही 3-3 उम्रकैद की सजा काट रहा है। हालांकि, अधिकारियों को शक है कि उसने कम से कम 14 राज्यों में महिलाओं की हत्या की थी। जांचकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने करीब 30 हत्याओं में लिटल के हाथ होने के पुख्ता सबूत जुटा लिया है और उसके कबूलनामे पर शक करने का उन्हें कोई कारण नजर नहीं आता। टेक्सास स्थित इक्टर कंट्री के डिस्ट्रिक्ट अटर्नी बॉबी ब्लैंड कहते हैं, ‘समय के साथ हम सब मामलों में सबूत खोज लेंगे। उसके बाद हमें उम्मीद है कि सैमुअल लिटल को अमेरिकी इतिहास के सबसे खतरनाक, दुर्दांत सीरियल किलरों में से एक घोषित किया जाएगा।’ इसी साल गर्मियों में 1994 में हुई हत्या के एक अन्य मामले में टेक्सस की एक ग्रैंड जूरी ने लिटल को दोषी ठहराया था।

एक सीरियल किलर कई सालों से एक के बाद एक कई हत्याएं करता जा रहा था लेकिन किसी को कोई शक नहीं हुआ कि इन हत्याओं में एक जैसा पैटर्न है। यह बात चौंकाने  व  परेशान करने वाली है। हालांकि, यह भी एक तथ्य है कि सबसे प्रभावशाली और तेजतर्रार पुलिस भी हत्याओं के सिर्फ तीन चौथाई मामलों की गुत्थी ही सुलझा पाती है। इसका मतलब है कि हर साल हजारों हत्यारें कानून की जद में आने से बच जाते हैं। लिटल ने कबूल किया है कि उसने इन हत्याओं को कई राज्यों में अंजाम दिया। उसका ज्यादातर शिकार वे महिलाएं होती थीं, जो गरीब थीं और ड्रग्स, शराब या दोनों की आदी होती थी। उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि ऐसी होती थी कि परिवार उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट या तो दर्ज ही नहीं कराता था या फिर कई हफ्तों के बाद दर्ज कराता था। इस वजह से जांच में कुछ खास हासिल नहीं होता था। वैसे तो 50 सालों से ज्यादा वक्त में लिटल को अलग-अलग राज्यों में करीब 100 से ज्यादा बार गिरफ्तार किया गया, लेकिन उसके तार हत्याओं से नहीं जुड़े थे। उसे अपहरण, रेप और लूट के आरोपों में पकड़ा गया था।

 अधिकारियों का कहना है कि ये हत्याएं सेक्शुअली मॉटिवेटेथ थीं लेकिन लिटल को अगर रेपिस्ट कहा जाता है तो वह भड़क जाता है। वह कहता है कि उसे लिंग शिथिलता की समस्या थी। इरेक्टाइल प्रॉब्लम की वजह से उसके लिए रेप करना असंभव था। हालांकि, माना जाता है कि उसने कुछ पीड़ितों को मारने से पहले उनका बलात्कार किया था। इसकी वजह यह है कि कुछ महिलाओं के नग्न शवों और उनके कपड़ों पर लिटल के वीर्य पाए गए। फ्लॉरिडा के एक जांचकर्ता बताते हैं कि वह गला घोंटकर मारने से पहले महिलाओं को बर्बर तरीके से पीटता था। सैमुअल लिटल बॉक्सर रह चुका था। वह इतनी ताकत से पंच मारता था कि महिलाओं की रीढ़ की हड्डी टूट जाती थी। ऑटोप्सी रिपोर्ट से यह खुलासा हुआ। डीएनए से जुड़े सबूतों की वजह से लिटल कानून के फंदे में आया। 2012 में डिटेक्टिव मार्सिया और उनके पार्टनर डिटेक्टिव मिट्जी रॉबर्ट्स ने लॉस एजलिस की 2 महिलाओं की हत्या के मामले में डीएनए सबूत इकट्ठे किए, जो लिटल के डीएनए से मैच हुए। इसके बाद, दोनों ने उसे केंटकी स्थित बेघरों के एक शेल्टर होम में उसे ट्रैक किया। कई सालों से इकट्ठे किए गए डीएनए सबूतों ने लिटल के कई महिलाओं की हत्याओं से तार जोड़ा। फिर, इस साल जेम्स हॉलैंड नाम के टेक्सस के एक रैंजर ने लॉस ऐंजिलिस काउंटी प्रिजन में लिटल से मुलाकात की। वह लिटल का विश्वास जीतने में कामयाब हुए और उसने अपने गुनाहों को कबूल किया। लिटल रोज नए-नए केस की जानकारी देने लगा।

लिटल से पूछताछ करने वाले जांचकर्ताओं का कहना है कि वह खुद को मिल रहे अटेंशन का मजा लेता दिखता है और अपने खौफनाक जुर्म की कहानी बड़े ‘चाव’ से बताता है। अधिकारियों के मुताबिक हत्याओं के बारे में बताते हुए उसके चेहरे या हावभाव से किसी भी तरह का पछतावा नहीं दिखता। इतना ही नहीं, उसे दशकों पहले की गई हत्याओं का एक-एक विवरण याद है। उसे याद है कि उसने महिलाओं की हत्या के बाद उनके शवों को कहां ठिकाना लगाया था।  सैमुअल लिटल अविश्वसीनय ढंग से दशकों पहले अंजाम दिए अपराधों को बिलकुल ठीक-ठीक याद तो कर लेता है लेकिन उसे अपने बचपन के बारे में कुछ खास याद नहीं है। लिटल ने जांचकर्ताओं को अपने मां के बारे में जो कुछ बताया है, उससे लगता है कि उसकी मां भी अपराध की दुनिया में सक्रिय थी। उसके बचपन के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है, लेकिन जांचकर्ताओं का कहना है कि उसकी मां ने शायद जेल में उसे जन्म दिया था। उसका पालन-पोषण ओहियो में उसकी ग्रैंडमदर ने की थी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker