भारत

PM मोदी ने किया वाजपेयी का सपना साकार, चीन को हुई टेंशन

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का सपना साकार कर दिया है।

असमः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का सपना साकार कर दिया है। पीएम मोदी ने देश के सबसे लंबे रेलवे- रोड पुल का उद्घाटन कर दिया है। असम के डिब्रूगढ़ मेें बोगीबील पुल का आज पीएम मोदी ने उद्घाटन किया। यह पुल एशिया का दूसरा सबसे लंबा पुल है। इस पुल की मदद से असम से अरुणाचल प्रदेश की दूरी कम हो गई है और आज से ये पुल आम जनता के लिए खोल दिया गया है। ये पुल असम के डिब्रूगढ़ में ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिण तट को धेमाजी जिले से जोड़ता है। इससे ही सटा अरुणाचल का सिलापत्थर भी है। इस पुल को चीन के लिहाज से भी काफी अहम माना जा रहा है।

इस पुल को भारतीय इंजीनियरिंग की अनोखी मिसाल भी कह सकते हैं, क्योंकि ये डबलडेकर ब्रिज है। जिस पर ट्रेन और बसें एक साथ दौड़ेंगी। इस पुल को बनाने में करीब 4857 करोड़ रुपये का खर्च हुआ है। प्रधानमंत्री ने पुल के दक्षिणी क्षेत्र से उद्घाटन किया, जिसके बाद पुल पर सफर करते हुए वह उत्तरी हिस्से में गए।

चीन को  टेंशन 

इस पुल को अरुणाचल प्रदेश से सटे बॉर्डर पर चीन की चुनौती का जवाब माना जा रहा है।  सेना की जरूरतों के लिहाज से ये पुल काफी अहम है, इस पुल पर सेना के भारी टैंक भी आसानी से ले जाया जा सकेंगे। पुल के निचले हिस्से में 2 रेलवे लाइनें बिछाई गई हैं और ऊपर 3 लेन की सड़क बनी है।

आपको बता दें कि पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने 1997 में इस प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया था। जबकि 2002 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा इस ब्रिज पर काम शुरू किया गया था। अब अटल बिहारी वाजपेयी की ही जयंती पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस पुल को देश को समर्पित किया

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker