नई दिल्ली

70वां गणतंत्र दिवस: जीवन रक्षा पुरस्कार से 48 बहादुर हुए सम्मानित, जानें कौन हैं वो जांबाज

लोगों की जान बचाने का सराहनीय कार्य करने के लिए 48 लोगों को जीवन रक्षा पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। इनमें से आठ लोगों को मरणोपरांत यह सम्मान दिया जा रहा है।

नई दिल्लीः लोगों की जान बचाने का सराहनीय कार्य करने के लिए 48 लोगों को जीवन रक्षा पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा। इनमें से आठ लोगों को मरणोपरांत यह सम्मान दिया जा रहा है। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को यह घोषणा की। यह पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिया जा रहा है- सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक, उत्तम जीवन रक्षा पदक और जीवन रक्षा पदक। सभी क्षेत्रों के लोग इन पुरस्कारों के लिए पात्र हैं। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति ने 48 लोगों को जीवन रक्षा पदक प्रदान किये जाने की मंजूरी दी है। सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक आठ लोगों को, उत्तम जीवन रक्षा पदक 15 लोगों और जीवन रक्षा पदक 25 लोगों को प्रदान किया जायेगा। इन लोगों को दिया जाएगा।

जीवन रक्षा पदक 
सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक से सम्मानित किये जाने वाले लोगों में छत्तीसगढ़ के किशोर राय (मरणोपरांत), महाराष्ट्र के मास्टर चेतन कुमार निशाद (मरणोपरांत), कौस्तुभ भगवान तारामले (मरणोपरांत), मास्टर प्रथमेश विजय वाडकर (मरणोपरांत) के नाम शामिल हैं। वहीं, पी लवेनपुइया (मरणोपरांत) और टी लालरिनावमा (मरणोपरांत), मिजोरम तथा नीतीशा नेगी (मरणोपरांत), दिल्ली से हैं। वहीं, ओडिशा के राकेश चन्द्र बेहेरा (मरणोपरांत) इनमें शामिल हैं।

उत्तम जीवन रक्षा पदक 
उत्तम जीवन रक्षा पदक से सम्मानित लोगों में विश्मैया.पी (केरल), साजिद खान (मध्य प्रदेश), डा चरणजीत सिंह बलवीर सिंह सलूजा (महाराष्ट्र), अमोल एस लोहार(महाराष्ट्र), मास्टर ललियांसांगा (मिजोरम), मास्टर वेनलालदुहावा, विनोद (हरियाणा), रामराजा यादव(मध्य प्रदेश), आजाद सिंह मलिक (दिल्ली), मास्टर एच बेइदुआसा(मिजोरम), मास्टर करन (दिल्ली), मास्टर दीपांशु(दिल्ली), मास्टर प्रशांत सिदार, (छत्तीसगढ़), मास्टर वालाम्बोक सोहफोह (मेघालय) और अविनाश बाबू नाइक (गोवा) शामिल हैं।

जीवन रक्षा पदक
जीवन रक्षा पदक जीवन रक्षा पदक पाने वाले लोगों के नाम इस प्रकार है: अब्राहम तेयिंग एवं पादी पेयांग, (अरुणाचल प्रदेश), मोनूज चावतलद (असम), राजू ग्राह (असम), राधाकृष्णन.एम (केरल), अंकित धांगर (मध्य प्रदेश), महेन्द्र टेकाम (मध्य प्रदेश), शानलांग (मेघालय), वेनलावेनेइमा चांग्ते (मिजोरम), मास्टर डारचुंगनुंगा (मिजोरम), चन्द्र कुमार गुरुंग (सिक्किम), बरिया मेहुल बाबूभाई (दमन और दीव) और एम पद्मनाभन (तमिलनाडु) । जीवन रक्षा पदक पाने वाले अन्य लोगों में सुशील भोई (उत्तर प्रदेश),सामरन मालवीय (मध्य प्रदेश), धरयशिल धाकतुबा अदके (महाराष्ट्र), धनंजय कुमार सोनवाने (छत्तीसगढ़), अभिनव के के (केरल), खर्वबोकलंग खरलुखी (मेघालय), ध्रुव लव (उत्तर प्रदेश), माधव लव (उत्तर प्रदेश), लालथासांगजुअली (मिजोरम) रुहीनफातिमा एम तलात (गुजरात), वैष्णव ई आर (केरल) और श्रीजीत पी एस (केरल) शामिल हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker